सिर्फ अंगूठा ही दिखा देता है सम्पूर्ण जीवन का आयना !

नमस्कार दोस्तों जय गुरु देव ,नमो निखिलं ! दोस्तों हाथ के अंगूठे का PALMISTRYके अनुसार अंगूठे विशेष महत्व है !क्यूंकि अगर हम हाथ में सिर्फ अंगूठे का अच्छे से अध्यन करते है तो जातक के सम्पूर्ण जीवन का विश्लेषण कर सकते है !क्यूंकि अगर आपका अंगूठा ठीक नहीं है तो आपके हाथ के सभी प्रकार सुभ लक्षणों का प्रभाव काम हो जाता है इस लिए हाथ में अंगूठे का विशेष महत्व है !PALMISTRY के अनुसार लम्बा और मजबूत अंगूठा मानव में द्रढ़ इच्छा शक्ति सदविचार ,सुस्वभाव का प्रतीक है !शरीर के किसी भी भाग के कट जाने पर रक्त प्रवाह सिग्रह रूक जाता है लेकिन अंगूठा कटने पर बहुत मुश्किल से रुकता है !इसके अलावा अंगूठा कटने पर जातक पागल हो सकता है ,मानसिक कमजोरी आसकती है ,इसके अलावा लकवे का शिकार हो सकता है ,हार्ट फ़ैल हो सकता है ,या मृत्यु भी हो सकता है ! इस लिए अंगूठे का अध्यन बहुत बारीकी से करे ये हमारे शरीर का शक्ति केंद्र है ! PALMISTRY के अनुसार अगर अंगूठा पीछे नहीं झुकता है उसका जोर सख्त है तो ऐसे में जातक हठी ,सदैव सतर्क, कार्यकुसल ,धन संघ्रहि ,भावनाओ का आभाव ,समय का उपयोग करने वाला ,बूढी और धन का सही प्रयोग करने वाला !सोच समझ कर मित्रता करने वाला ,विरोध करने वाला ,स्वाभिमानी ,स्वनियंत्रित ,उसूल का पक्का ,निर्णय लेने वाला ,सोच समझ कर दान देने वाला ,मुसीबत में नहीं घबराने वाला, अगर हाथ का आकार बहुत बड़ा है ,त्वचा का रंग लाल है ,हाथ का स्वभाव हार्ड हो तो जातक हिंशक अपराधी भी हो सकता है ! PALMISTRY के अनुसार;अगर अंगूठा पीछे की तरफ झुकाने वाला है तो जातक परिस्थिति के अनुसार अपने आपको ढालने वाला होता है ! वो कही भी किसी भी माहौल में अर्जेस्ट हो सकता है ! PALMISTRY के अनुसार ऐसे लोग कम मेहनत करते है ऐसे लोग सौंदर्य प्रेमी होते है !ऐसे लोग सामाजिक उदार प्रतिभावान मधुर स्वभाव वाले होते है !PALMISTRY के अनुसार ऐसे लोग थोड़े जल्द बाज़ होते है !इनकी विज्ञानं में विशेष रूचि हो सकती है ! PALMISTRY के अनुसार ऐसे अंगूठे मुख्यतया स्पेन ,आयर लेंड ,इटली और फ्रांस के लोगो के पाए जाते है ! अगर हाथ ढीला ढाला है तो जातक आलसी और कामचोर हो सकता है ! ज्यादा पीछे मुड़ा अंगूठा हो तोPALMISTRY के अनुसार जातक बेशर्म लापरवाह ,बहुत ज्यादा खर्चा करने वाला ,कभी भी अपने विचार बदलने वाला ! अगर अंगूठा मोड़ने पर कनिष्ठका तक पहुँचता है तो जातक प्रभावसाली किस्म का इंसान होता है !PALMISTRY के अनुसार अगर अंगूठे के बीच में दोनो हाथो के यव का निशाना है तो जातक जन्म शुक्ल पक्ष में हुवा है ! ऐसे जातक विद्वान धनवान,समाज में प्रतिष्ठित ,भाग्यवान ,कलाकार किस्म के इंसान होते है ! PALMISTRY के अनुसार अगर एक अंगूठे में यव है तो जातक का जन्म कृष्ण पक्ष में हुवा है !अगर अंगूठे की जड़ में काक पद का निशान दिखाई दे तो ऐसे इंसान को वृदअवस्था में दुःख भोगना पड़ता है ! PALMISTRY  ग्रन्थ समुद्र तिलक के अनुसार अगर अंगूठे की जड़ में एक यव है तो जातक सुखी और पुत्रवान होता है ,अगर दो है तो उच्च पद भी प्राप्त करता है ,अगर तीन है है तो जातक राजा जैसा जीवन जीता है !अगर अंगूठा लम्बा है तो जातक द्रढ़ इच्छा शक्ति वाला इंसान होता है ऐसा जातक हर बात को अपनी बुधि से तौल कर ही मानता है ! अगर अंगूठे की लम्बाई सामान्य है तो जातक आदर्श वादी किस्म का इंसान होता है ,ऐसे लोगो में साशन करने की भावना होती है !PALMISTRY के अनुसार अगर अंगूठे का आकार ज्यादा छोटा है तो अस्थिरता व् निराशा की निशानी है !अगर साथ में शुक्र दबा हुवा हो तो दुर्बल मस्तिष्क व् स्वेदनशीलता की निशानी है ! सीधा चिकना ऊँचा गोल अंगूठा धनवान इंसान की पहचान है PALMISTRY के अनुसार!अगर किसी स्त्री जातक अंगूठा लम्बा गोल गोल है तो धनवान सौभाग्य की प्रतीक है !PALMISTRY के अनुसारअगर कोई जातक अपना अंगूठा हतेली में छुपता है तो ऐसा जातक डरपोक कायर किस्म का इंसान है !ऐसे लोगो में आत्म बल और आत्म विस्वाश की कमी बताता है !PALMISTRY के अनुसारअगर कोई बचा जन्म के सात दिन बाद भी अपना अंगूठा हथेली में छुपाता है तो वो डरपोक और मंद बुदि होगा PALMISTRY के अनुसार!अगर अंगूठा छोटा और कमजोर है तो जातक पागल हो सकता है !PALMISTRY के अनुसारअगर किसी रोगी का ऍंगूठा कमजोर है और वो हथेली पर गिर गया है तो मृत्यु नजदीक है !PALMISTRY के अनुसारअगर कुछ उठा हुवा है तो बचने की उम्मीद है !मोटा अंगूठा अपराधी की निसानी है !PALMISTRY के अनुसारअगर किसी का ऍंगूठा गदा जैसा दिखाई दे तो ऐसा जातक निष्ठुर क्रोधी हिंशक और हठी होता है !जब भी अंगूठे की चमड़ी नरम पर रही है तो लकवे की सम्भावना मानना चाहिए !अंगूठे का ऊपरी पर्व पुरे अंगूठे का होने पर जातक स्फूर्तिवान ,सच्चिरत्र ,भाग्यवान ,स्वस्थ्य मानें ! ऐसे जातक विज्ञानं में रूचि रखने वाले माने जाते है !इनमे इच्छा शक्ति जबरदस्त होती है !ऐसे इंसान लगनशील होते है !ऐसे लोग प्रभावसाली व्यक्तित्व वाले इंसान होते है !ऐसे इंसान वृद अवस्था में अधिक धार्मिक माने जासकते है !ये प्रेम में सब कुछ लुटा सकते है !व् ग़ुस्से में जान भी ले सकते है !अगर ऊपरी भाग अधिक लम्बा है तो जातक निरंकुश ,तानाशाह किस्म का इंसान होते है ! ऐसे लोग खुसामद पसंद इंसान होते है !ऐसे लोग हत्यारे व् स्वेछा धारी इंसान हो सकते है !अगर ऊपरी पर्व ज्यादा छोटा है तो जातक कमजोर दिल वाला इंसान होगा ,ऐसा इंसान निम्न विचार रखने वाला इंसान होगा ,दुसरो पर निर्भर रहने वाला दुखी और परेशान इंसान होता है ,ऐसे लोग अस्थिर मस्तिष्क वाले लोग होते है ,ऐसे लोग काम से जी चुराते है ,बहुत जल्दी रोने लगते है ,ये खुद पर सयंम नहीं रख सकते पर स्त्री इनकी कमजोरी होती है ,ऐसे लोग बिना पूछे सलाह देने वाले इंसान होते है ! PALMISTRY के अनुसार अगर अंगूठे का सिरा फूला हुवा है या गोल है ऐसे लोग जिद्दी किस्म के इंसान होते है ,इनको क्रोध बहुत ज्यादा आता है ! ऐसे लोग द्रढ़ निश्चियी होते है !PALMISTRY के अनुसारअगर किसी जातक के अंगूठे का सिरा अति नुकीला है तो ऐसा इंसान महास्वार्थी ,दुसरो की पीठ के पीछे निंदा करने वाला ,व् चाप्लूश किस्म का इंसान होता है !PALMISTRY  के अनुसार अगर कुछ नुकीला है तो ऐसा इंसान सरल इंसान होता है ऐसे लोग कलाकार किस्म के इंसान होते है !PALMISTRY के अनुसारअगर अंगूठे का सिरा वर्गाकार है तो जातक न्यायपसंद तार्किक किस्म का इंसान होता है !अगर अंगूठे का सिरा आयताकार किस्म का दिखाई दे तो जातक हठी,चिढ़ने वाला क्रोधी किस्म का इंसान होता है ! ऐसे ही अगर निचे का भाग ३/५ लम्बा है ,तो जातक तार्किक शक्ति वाला इंसान होता है ,ऐसे लोग बुद्धिजीवी इंसान होते है ,ऐसे लोग सोच समझ कर चलने वाले इंसान होते है !कई बार ये कुतर्क के बल पर भी विजय प्राप्ति का प्रयाश करते है !अगर निचे का पर्व पतला है तो जातक बिना सोचे समझे बोलने वाला इंसान होता है ,ऐसे लोग दुसरो के पिछलगू होते है !
PALMISTRY के अनुसार अगर दोनो ही पर्व सामान है तो हर माहौल में संत रहता है उसे निंदा प्रसंशा से कोई फ़र्क़ नहीं पड़ता!ऐसे लोग हमेसा सावधान रहते है ! वो कभी भी किसी से धोखा नहीं खाते है !इनमे आत्मविस्वाश कूट कूट कर भरा होता है !ये महान व्यापारी ,कलाकार, उच्च नेता ,होते है ! इनका नाम इनके जाने के बाद भी अमर रहता है ! ये अचे और सच्चे मित्र होते है ,ये धनवान ,साधन सम्पन लोकपिर्य इंसान होते है लेकिन अपने अधिकारों के प्रति जागरूक होते है ! इसके बाद बात करते है अंगूठे का कोण के आधार पर विश्लेषण ! PALMISTRY के अनुसार अगर जातक का अंगूठा अधिक कोण टाइप का है तो ऐसा जातक इच्छा शक्ति से भरपूर मेहनती किस्म का इंसान होता है !ऐसे लोग दुसरो से दबने वाले इंसान नहीं होते है !इनकी कला में विशेष रूचि होती है !ये कोमल ह्रदय के स्वामी होते है !ये सभी को प्रेम करने वाले इंसान होते है !ये मिलनसार इंसान होते है !ये दुसरो पर उपकार करने वाले इंसान होते है !ये सामाजिक और धार्मिक किस्म के इंसान होते है ! अगर ये कोई गति करते है तो उसके लिए पश्च्याताप करने वाले इंसान होते है !ऐसे लोग अच्छे लोगो की गिनती में आते है ! PALMISTRY के अनुसार अगर जातक का अंगूठा समकोण किस्म का अंगूठा है तो ऐसे लोगो को बहुत जल्दी क्रोध आजाता है ! ऐसे लोगो का अगर काम बिगड़ जाता है तो ये खुद पर क्रोध करते है !बाटे काम करते है और परिश्रम ज्यादा करते है !ये हठी किस्म के इंसान होते है ,इनमे प्रति शोध की भावना कूट कूट के भरी होती है !ये मनमानी करने वाले इंसान होते है !ये दुसरो के सामने झुकते नहीं है !इनको आप मजबूत इच्छा शक्ति वाला इंसान कह सकते है !मुख्यतया ऐसे इंसान मंगल प्रधान होते है ! ये समाज में सैनिक डाकू के रूप देख सकते है ! ये पक्के सत्रु है तो पक्के मित्र भी होते है ! अगर जातक का अंगूठा न्यून कोण किस्म का है तो जातक निराशावादी ,आलसी ,नसेड़ी अधार्मिक ,कंजूश अविवाहित या निसंतान किस्म के लोग होते है !ऐसे लोग किसी भी खंडन में पैदा होजाये लेकिन इनके कर्म नीच ही होते है !ये परस्त्री गमी होते है ,ये स्वार्थ में जादूटोना तंत्र मन्त्र करने वाले होते है !ऐसे लोग धोखेबाज व् कायर किस्म के इंसान होते है ! अगर किसी जातक का अंगूठा बहुत ज्यादा छोटा है तो ऐसा इंसान योजना बना कर हिंसा करने वाला होता है

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *