Friday, 15 December 2017

hatho ke parkar

हाथ का प्रकार  ही सब कुछ नहीं होता इसके आलावा हाथ छोरा है या संकरा ये भी देखना चाहिए,हाथ सकत है या कोमल ये भी देखने वाली बात है !उंगलियों के सिरे नुकीले है या वर्गाकार ,अथवा चपटे एक पर्व और दूसरे पर्व के बीच में जो गांठे है उनका भी अध्यन आवयश्यक है !ऐसी प्रकार परतेक उंगली की लम्बाई भी अपने आप में विशेष महत्व रखती है !ये मैंने परत्यक्ष देखा जिस इंसान की कनिष्का अगर अनामिका के तीसरे पोर से लम्बी होगी तो ऐसा इंसान उच्च पद को पर्पट करेगा ऐसा इंसान समाज में विशेष मन सामान प्राप्त  करता है ! ऐसे इंसान बुद्विमान लोग होते है !इस ले सर हाथो के प्रकार ही सब कुछ नहीं होता है !

No comments:

Post a Comment