Saturday, 4 August 2018

एक हाथ का सम्पूर्ण अध्यन

दोस्तों ये हाथ समकोण श्रेणी का हाथ है।ये दुनियाका सबसे अच्छा हाथ माना गया है।क्यूंकि ऐसे जातक समाज के लिए बहुत ही उपयोगी होते है।ये समाज सेवक होते है।किसी पर अन्याय होते नही देख सकते ।ये न्याय प्रिय इंसान होते है। ऐसे जातक रूडी वादी मानसिकता के इंसान होते है।जिसके चलते ये परम्परोवो को निभाने वाले इंसान होते है। इनकी संतान भी संस्कारी होती है।ज्यादातर इनके रिस्तेदार भी सामाजिक इंसान होते है।
ऐसे इंसान बहुत कम नोकरी करते हुए देखे गए। स्वाभिमानिता इनमे कूट कूट कर भरी होती है। अगर नोकरी में होंगे तो डॉक्टर, जुज़,प्रसासनिक अधिकारी,या उधोगपति,बड़े किशान ,जमीदार,सेठ या राजा होंगे।इनको ठन्डे प्रदेश या पहाड़ो में रहना पसन्द होता है।ये लोग जीवन के किसी भी परोग्राम में दिल खोल कर खर्चा करते है। ये कुवा बावड़ी धर्मसाला व् अस्पतालों का निर्माण करवाते है।ये ज्यादातर सयुंक्त परिवार में रहना पसन्द करते है।
अगर इस हाथ में गुरु पर्वत की बात की जाये तो बहुत अच्छा नही है।ऐसे में जातक विपरीत परिस्थितियों में आत्मविश्वाश खोएगा।चूँकि गुरु पर्वत पर स्टार है जी वैवाहिक जीवन के नजरिये से अच्छा नही माना जाता।ऐसे जातक सब कुछ छोर कर एकांतवाश में भी चले जाते है। अगर शनि की बात की जाये तो सामान्य है साथ में भाग्य रेखा भी है।ऐसे में जातक आर्थिक रूप से सम्रद्ध रहेगा। लेकिन जीवन में आर्थिक उतारचढ़ाव का भी सामना करेगा।अगर बात की जाये सूर्य पर्वत की तो ये उन्नत है। साथ में सूर्य रेखा भी है तो जातक समाज में एक समानित इंसान है। अगर बुध पर्वत की बात की जाये तो ये भी उन्नत है साथ में सूर्य के साथ सम्बन्ध बना रहा है ऐसे में जातक डॉक्टर या वैध हो सकता है।उसके बाद बात करते है।मंगल की मंगल अच्छा है।यानि जातक काफी अचल सम्पति का मालिक होगा।और हिमत वाला इंसान होगा।
उसके बाद बात करते है।चन्द्र पर्वत की जो की बहुत ज्यादा उठा हुवा है।ऐसे इंसान दिमाग से नही दिल से सोचते है।ये सर्दी झुकाम की चपेट में भी जल्दी आते होंगे। इनको प्रकर्ति से बहुत ज्यादा प्रेम है।ये कवी किस्म के इंसान है। ये दूसरे का दुःख नही देख सकते ।ये सच्चे प्रेमी है।इनको जीवन में बहुत से यात्राओ का सुख भोगने का अवसर मिलेगा। उसके बाद बात करते है केतु की जो की बहुत एच है ऐसे में हम ये कह सकते है।जातक सोने का चमच्च मुह में लेकर पैदा हुवा है। उसके बाद बात करते है सुक्र पर्वत की जो काफी उन्नत है।यानि जातक जीवन में सभी प्रकार के सुखो का भोग करेगा।विपरीत लिंग के प्रति आकर्षक बहुत ज्यादा रहेगा।ऐसे जातक सफाई पसन्द इंसान होते है। ये अछे कपड़े पहनना मेकॅप् करना, इत्र लगाने के शौकीन होते है। ये स्वयं भी इतने आकर्षक होते है।की विपरीत लिंग इनके पीछे घूमते है।
उसके बाद बात करते है।रेखाओ की अगर रेखाओ की बात की जाये तो सबसे पहले बात करते ह जीवन रेखा की। जीवन रेखा बताती है।जातक की आयु 75+ हैं।लेकिन 65 के बाद जातक को सवांश से सम्बंदित बीमारी का सामना करना होगा।वैसे जातक बचापैन में भी बीमार रहा है।
उसके बाद बात करते है।मस्तिष्क रेखा की जो की बताती है।जातक एक बुद्धिमान इंसान है।लेकिन जातक बहुत ज्यादा भावुक इंसान है।ये दिमाग से नही दिल से सोचते है।उसके बाद बात करते है ह्रदय रेखा की।ह्रदय रेखा अति उत्तम है।ऐसे जातक सच्चे प्रेमी होते है।और औने लिए कभी नही सोचते सिर्फ समाज सेवा के लिए ही सोचते है।हां इनको जल तत्व से सम्बंदित बीमारियो का सामना करना पड़ेगा। इसके आलावा ह्रदय रोग,खून से सम्बंदित बीमारी का भी सामना करना परेगा।
अब बात करते है भाग्य रेखा की । वैसे तो ये बचपन से ही मुह में सोने का चम्मच ले कर पैदा हुए है।लेकिन सही मायने में इनके जीबन की सुरुवात 23 के आसपास होइ होगी। जो की 34 तक अछि रही।34 से 35 तक का समय बहुत बेकार गया है।35 के बाद ट्रैक चेंज हुवा होगा।लेकिन 41 से 42 का समय फिर से परेसनियो भरा होगा।उसके बाद 50 के बाद फिर से आर्थिक परेसनिया खत्म हो जाएँगी।उसके बाद सम्पूर्ण जीवन इनका विशेष आर्थिक परेसनियो का सामना नही करना पड़ेगा।
इस हाथ की अगर बात की जाये तो जातक को वैवाहिक जीवन को ठीक करने के लिए उपाय करने होंगे।व् 40 के बाद आर्थिक परेसनियो से बचने के लिए उपाय करने होंगे। धन्यवाद।
अगर आप हाथ देखना सीखना चाहते हो तो 10 ऑगस्ट से online क्लास सुरु कर रहा हु।
समपर्क करे।palmist Rataan 8107958677

No comments:

Post a Comment