Friday, 28 December 2018

जानिए आपकी मृत्यु कब और कैसे होगी?

दोस्तों नमस्कार ,जय गुरु देव ,नमो निखिलं ! दोस्तों जो इस दुनिया में जो आया है वो जायेगा ,ये  एक कटु सत्य है ! लेकिन इंसान के लिए मोत आज भी रहस्य है ! मोत कब आएगी कैसे आएगी ये हर इंसान जानना चाहता है !दोस्तों आज का मेरा लेख इसी विषय को लेकर है !
अगर जीवन रेखा ,ह्रदय रेखा और मस्तिष्कः रेखा में एक साथ अगर दोनो हाथो में दोष नजर आये तो उस आयु में मोत होने की पूर्ण सम्भावना होती है !इसके अलावा किसी भी एक रेखा में दोनो हाथो में सामान दोष है तो भी उस आयु में मोत की सम्भावना होती है !कई बार एक्टिव हैंड की जीवन रेखा ,मस्तिष्क रेखा ,या ह्रदय रेखा में कोई भारी दोष होने की दसा में भी ऐसा संभव है !
इसके अलावा अगर ह्रदय रेखा और भाग्य रेखा गुरु तक जाती हो ,मध्यमा अंगुली के दूसरे पोर की खरी रेखा को तीन रेखा कटती हो तो जातक की मोत भूड़ापे में  तीर्थ स्थल पर होने की संभावना होती है !अगर जीवन रेखा का अंत चंद्र पर्वत की तरफ हो ,और एक शाखा मणिबंद की तरफ जाती हो !और चंद्र पर्वत पर क्रॉस का निशान हो तो जातक की मोत यात्रा के दौरान होने की सम्भावना है !अगर मणिबंद पर दूषित त्रिकोण है तो जातक की मोत जन्म स्थान से दूर होगी !अगर जीवन रेखा चंद्र पर्वत तक जा रही है और भाग्य रेखा की एक शाखा मंगल पर्वत तक जाती हुयी दिखाई दे तो जातक की मोत विदेश में होगी !अगर मस्तिष्क रेखा कमजोर है ,और उसको दूसरी रेखा काट रही हो ,जीवन रेखा और मंगल रेखा पर टिल का निशान हो तो जातक की मोत जेल में होने की सम्भावना होती है !इसके अलावा एक सूत्र और भी काम करता है ! जीवन रेखा की कूल लम्बाई को तीन भागो में बाँट लो !परतः भाग में अगर दोष है टी मोत का कारन मुख से लेकर गले तक  समबन्दित होगा ! अगर दूसरे भाग में दोष है तो मोत सिने से लेकर नाभि तक होगा !अगर अन्तिअम भाग में दोष है तो मोत का कारन वंशानुगत रोग होगा !
अगर इंसान के हाथ में गुरु और मंगल निर्दोष है ,जीवन रेखा,मस्तिष्क रेखा ,ह्रदय रेखा  श्रेष्ठ है तो इंसान की मोत भी श्रेष्ठ होगी वो कब चला गया किसी को पता नहीं चलेगा !
अगर जीवन रेखा अंत में दो भागो में बाँट गयी है तो जातक की मोत स्वांश समबन्दित रोगो के कारन होगी !अगर मस्तिष्क रेखा पर काला तिल और तारे चिन्ह दिखाई दे तो जातक की मोत ब्रेन हैमरेज से होगी !अगर किसी महिला की बुध रेखा में दोष हो और बाकि रेखावो में भी दोष नजर आये या किसी एक रेखा में दोष नजर आये तो जातिका की मोत प्रसूति की वजह से होने की सम्भावना होगी !अगर मध्यमा के तीसरे पर्व पर यव का चिन्ह दिखाई दे तो जातक की मोत विष द्वारा होगी !मध्यमा के तीसरे पर्व पर तारे का चिन्ह हो ,अंगूठे पर व्रत या तीर का निशान हो ऐसे में जातक की मोत किसी सस्त्र से  होने की सम्भावना होती है !अगर चंद्र पर्वत और मस्तिष्क रेखा पर स्टार का निशान दिखाई दे तो जातक की मोत पेट  ओप्रेसशन के दौरान होने की सम्भाना होती है !अगर मध्यमा के प्रथम पर्व पर त्रिभुज का निशान दिखाई दे तो जातक की मोत किसी हिंसक पशु द्वारा होती है !अगर शुक्र से चन्द्रमा तक एक दूषित गोल रेखा हो ,मस्तिष्क रेखा चंद्र पर्वत तक जाती हो ,चन्द्रमा पर क्रॉस या जाल का निशान हो तो जातक की मोत जाल में डूबने से होने की सम्भाना है !अगर किसी महिला के हाथ में शुक्र से मंगल के बीच दाग का निशान हो ,अनेक शुक्र वाले हो ,और जीवन रेखा अंत में बहुत पतली हो तो जातिका की मोत व्यभिचार ( बलात्कार ) से होगी !अगर मध्यमा के नाख़ून पर जाल नजर ाज्ये तो भी ऐसे मोत का संकेत मान सकते है !अगर अंगूठे से लेकर गुरु तक कोई सीधी रेखा जाती हो ,बड़े त्रिकोण या वरह में तारे का निशान हो ,जीवन रेखा में दोष हो ,ह्रदय रेखा जंजीरदार हो ,मस्तिष्क रेखा छोटी हो या कमजोर हो भाग्य रेखा या शनि पर्वत पर क्रॉस ,मस्तिष्क रेखा जीवन रेखा के अंदर से जाती हो ,जीवन रेखा टूटी हो ,और हथेली के बीच में क्रॉस का निशान हो तो जातक की मोत फांसी से होगी !
दोस्तों आशा है आज का ये लेख आपको जरूर पसंद आया होगा फिर भी अगर आपकी कोई शिकायत है या सुझाव है तो कमेंट बॉक्स में जरूर लिखे धन्यवाद !
दोस्तों बहुत जल्दी मैं हस्त रेखा विज्ञानं सिखाने की क्लास सुरु कर रहा हु !हमारे दोस्तों अगर हाथ देखना सिखना चाहते है? तो मै हस्त रेखा सिखाता हु।आप मुझसे 8107958677 पर संपर्क कर सकते है।हमरे यहां हस्त रेखा विज्ञानं का कोर्स 1वर्ष का है जिसकी फीस सिर्फ 11500/- है ! इसमें ६ माह बेसिक हस्त रेखा विज्ञानं का ज्ञान दिया जायेगा !और 6 माह एडवांस्ड हस्त रेखा विज्ञानं का कोर्स करवाया जायेगा !सभी क्लास नारायण दिल्ली में होंगी !क्लास प्रतेक रविवार को होगी !क्लास का समय 2 घंटे का होगा !



कोर्स के बाद सभी लोगो को माँ पंचांगुली साधना भी सम्पन करवाई जाएगी !



web site:- www.palmistrataan.com



whatsapp :-8107958677



Palmist Rataan Nkhil

कोर्स के बाद सभी लोगो को माँ पंचांगुली साधना भी सम्पन करवाई जाएगी !

No comments:

Post a Comment