Wednesday, 26 December 2018

हस्त रेखा विज्ञानं के हिसाब से आपका सवास्थ्य और बिमारिया

दोस्तों नमस्कार जय गुरु देव नमो निखिलं !दोस्तों एक कहावत है पहला सुख  निरोगी काया ,दूजा सुख घर में हो माया ,कहने का मतलब ये है अगर इंसान का सवास्थ्य अच्छा है तो इंसान गरीबी में भी आराम से जीवन काट सकता है ,लेकिन अगर सवास्थ्य अच्छा नहीं है तो धन भी किसी काम का नहीं है !इस लिए आज हम जो चर्चा करेंगे वो सवास्थय को लेकर ही है !अगर हम समय से ये जान जाये की किस समय हमारे शरीर में क्या बीमारी आने की सम्भावना दिखती है तो हम उस समय सावधानी बरत कर उस समस्या के असर को काम कर सकते है !
दोस्तों हमरे हाथो का अगर बारीकी से अध्यन किया जाये तो हम बहुत सी बीमारियों से बच सकते है ! उत्तम सवास्थय के लिए सबसे पहले अपने हाथो के रंग का अध्यन करे !उत्तम सवास्थ्य के लिए हाथो का रंग गुलाबी होना जरुरी है !अगर हाथो का रंग पीला होना सुरु हो गया है तो ये समझ ले हमारे शरीर में पेट से समबन्दित बीमारी आने वाली है !अगर हाथ का रंग बहुत ज्यादा लाल है तो रक्त विकार की सम्भावना है ! हाथो का रंग बदलने से पहले हाथ की अंगुलियों का रक्त बदलता है ,इस लिए सर्व प्रथम हाथ की अंगुलियों के नाखुनो का अध्यन करना चाहिए !
उत्तम स्वास्थ्य के लिए सूंदर आकार का हाथ हो ,हाथ का रंग गुलाबी हो ,नाखुनो का रंग भी गुलाबी हो ,हाथ में रेखाएं काम हो ,जीवन रेखा,मस्तिष्क रेखा ,और ह्रदय रेखा  सूंदर हो और दोष रहित हो !हाथ में उत्तम सवास्थ रेखा हो या बिलकुल न हो !जीवन रेखा का अंतिम भाग श्रेष्ठ हो !सभी पर्वत बलवान हो किसी भी पर्वत पर कोई अशुभ निशान न हो !साथ में अंगूठा  भी बलवान हो !अगर हाथ में ऐसे संकेत है तो जातक का सवास्थ्य अति उत्तम होगा !
अगर जीवन रेखा पतली है ,नाखुनो में काले,पिले या गहरा लाल रंग का धब्बा नजर आता है तो ये रोग का संकेत है ! अगर ह्रदय रेखा बहुत मोती है ,जंजीरदार है,बल जैसी बारीक़ है ,ह्रदय रेखा पर द्वीप है ,ह्रदय रेखा टूटी हुयी है  तो जातक ह्रदय रोग स्वांश समबन्दित रोग ,निमोनिया ,दमा ,जैसे रोग होने की सम्भावना होती है ! अगर चंद्र पर्वत दबा हुवा हो ,च्नद्र पर्वत पर जाल या क्रॉस हो , उच्च मंगल पर जाल हो ,तो जातक को गले से समबन्दित रोग होता है !
चन्द्रमा दबा हुवा हो ,चन्द्रमा पर द्वीप या स्टार हो ,मस्तिष्क रेखा के आरम्भ या अंत में सफ़ेद बिंदु का चिन्ह हो !ह्रदय रेखा में दोष हो ,ऐसे में जातक हो गुर्दे से समबन्दित रोग होने की सम्भावना होती है !दोस्तों आशा है आज की जानकारी आपके लिए काफी उपयोगी रहेगी !
धन्यवाद

No comments:

Post a Comment